Connect with us

Be Techy

What is NFC and its use in Hindi

Published

on

NFC Kya hai What is NFC in Hindi

Be Techy: क्या आप जानते है की NFC क्या है(What is NFC in Hindi) उसका Full form क्या है, कैसे काम करता है और उसके फायदे क्या(Benefits of NFC) है? आज के इस लेख के माध्यम से हम आप लोगो को NFC के सन्दर्भ में इन सभी चीजों पर इनफार्मेशन देने वाले है जो आपको NFC के ज्ञान से भरपूर बनादे| आज के इस टेक्नोलॉजी के युग में सभी बातो की जानकारी होनी आवश्यक है और हमारे Be Expensive के इस Be Techy पार्ट से हम आपको Technology के सन्दर्भ में काफी बाते बताचुके है और आगे भी बताते रहेगे| Be Techy के आज के इस लेख से हम आपको एनएफसी सन्दर्भ में इनफार्मेशन देगे|

अगर आप Smartphone के यूजर है तो आपने कभी न कभी NFC के बारे में सुना ही होगा| अगर नहीं सुना है तो इस लेख को पढ़ ले जिससे NFC के सन्दर्भ में काफी जानकारी प्राप्त होगी|

NFC क्या है?

NFC = Near Field communication

Full form(NFC क्या है)

NFC एक ऐसी Technology हो जिसकी वजह से नजदीक की System या Device से Communication आसानी कर सकते है | नजदीक से मतलब है की 5 से 6 cm या फिर एकदम जुड़े हुए हो ऐसे में ये काम कर सकता है |

Near Field communication हर mobile या Electronic Device में नहीं होता लेकिन जिसमे भी होती है उसमे एक एंटेना होता है(कभी कभी यह एंटेना अन्दर की साइड भी हो सकता है जो बहार न भी दिखाई दे) जो की Wave छोड़ता है और उसे Receive करता है | जब दो Near Field communication वाली Device एकदूसरे के पास आती है तब वह Connect हो जाती है और बाद में आप Data Transfer किया जा सकता है| एनएफसी

History of NFC

Near Field communication की हिस्ट्री के लिए आपको पहले रेडियो फ्रीक्वेंसी आइडेंटिफिकेशन (RFID) के इतिहास को जानने की आवश्यकता है| क्योंकि NFC की शुरुआत में RFID का काफी महत्वपूर्ण रोल है| RFID के द्वारा सबसे पहले 1980 में पहली बार radio information भेजने में सफलता मिली थी|

RFID तकनीक की सबसे पहले शुरुआत चार्ल्स वाल्टन ने की थी| बाद में सोनी और NXP सेमीकंडक्टर्स नामक एक कंपनी ने 2002 में नई Near Field communication तकनीक का आविष्कार किया। यह तकनीक शुरू में RFID से प्रेरित थी। 2004 से सेलुलर टेलीफोनिक कंपनी ने इसका प्रोडक्शन शुरू किया था|

NFC के उपयोग

Device Pairing :

Near Field communication की मदद से आप किसी भी Device से आसानी से Pairing कर सकते है | ब्लूटूथ या कोई अन्य Software से डाटा ट्रान्सफर करने केलिए आपको Pairing करनी पड़ती है साथ ही कितनी भी लम्बी प्रोसेस होती है जब की इसमे में ऐसा नहीं होता उसमे आप किसी भी Device टच करके Near Field communication को कनेक्ट कर सकते है | आप NFC से स्पीकर, जेसे उपकरण को भी आसानी से जुड़ सकते है |

Payment :

Mobile Payment आसानी से कर सकते है |अगर आप कही पर शौपिंग करने गए हो या पेट्रोल के Bill Pay करने जेसी जगह पर अब एनएफसी वाले टर्मिनल होते है जहा पर आपको Card स्वाइप नहीं करना पडता| सिर्फ आप को अपने Mobile उससे NFC वाली जगह पर टच करने से आपका payment हो जायेंगा | इसके लिए आपको अपने card की डिटेल Near Field communication में फिल करनी पड़ती है |

Data Transfer :

यह सबसे सामान्य और सबसे महत्व का यह Use है | Near Field communication की मदद से आप डाटा ट्रान्सफर कर सकते है और वह भी एक बहोत अच्छी स्पीड के साथ और उसमे बैटरी की खपत भी कम होती है |

NFC Tag :

यह एक एडवांस टेक्नोलॉजी जैसा लगता है | यह आपको अपनी इम्पोर्टेन्ट डाटा को सेव करने और जिसे आप चाहते है उसे शेयर भी कर सकते है | इससे आप अपने Wi-Fi का पासवर्ड भी कनेक्ट कर सकते है, किसीभी एप्लीकेशन को ओपन करने के लिए आप Near Field communication टैग आपके लिए एक शॉर्टकट का काम कर सकते है |

NFC Card :

इस card से आप अपने बिज़नस Card को जोड़ सकते है या कोई इनविटेशन Card को भी जोड़ सकते है| ऐसा करने से आप अपने card या इनविटेशन में एडिशनल इनफार्मेशन भी जोड़ सकते है |जब भी कोई अपने Mobile से उस Near Field communication को टच करेंगा तो आपकी जो भी अलग से इनफार्मेशन दी हुई है वह खुल जायेंगी या उसमे सेव हो जाती है |

तो ये था कुछ NFC के बारे में और उसके फायदे के बारे में हमें आशा है की आपको हमारा यह लेख पसंद आया होंगा और अगर पसंद आया हो तो इसे शेयर जरूर करना | धन्यवाद |

Advertisement
1 Comment

1 Comment

  1. Pingback: What is a computer and its types in Hindi - Be Expensive

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Facebook

Advertisement

Trending