Connect with us

Yoga

उत्तानपाद आसन कैसे करे| फायदे | सावधानिया | Utanpad aasan

Published

on

Utanpad aasan in hindi ke fayde

योग मानव शरीर के लिए एक ऐसी प्रक्रिया है जिसके अनगिनत लाभ है| योग में आसन का भी काफी महत्व है| जिसके द्वारा कई तरह के रोग से छुटकारा भी पाया जा सकता है| आज के इस लेख में हम आपसे utanpad aasan(उत्तानपाद आसन) के बारे में जानकारी प्रदान करेंगे| इस लेख के माध्यम से हम आपसे निम्नलिखित मुद्दों पर इनफार्मेशन देंगे|

  • Utanpad aasan कैसे होता है?
  • Utanpad aasan करने के फायदे क्या है ?
  • उत्तानपाद आसन कब करना चाहिए?
  • उत्तानपाद आसन कब नहीं करना चाहिए?

सबसे पहले हम यह देखते है की Utanpad aasan कैसे होता है?

Utanpad aasan क्या है और कैसे होता है?

योग शास्त्र में दिए गए आसन में से एक महत्वपूर्ण आसन है Utanpad aasan(उत्तानपाद आसन)| उत्तानपाद में उत्तान का अर्थ होता है ऊपर उठा हुआ और पाद का अर्थ होता है “पैर”| इस आसन में पैर को ऊपर की और ले जाया जाता है इस वजह से इसे उत्तानपाद आसन कहा जाता है| हर आसन को करने के लिए उसकी एक प्रक्रिया को फॉलो करना होता है| Utanpad aasan को करने के लिए भी सभी स्टेप को अच्छे से जानकार आगे बढ़ना आवश्यक है|

Utanpad aasan in Hindi (उत्तानपादासन करने की विधि)

  • उत्तानपादासन करने के लिए एक सपाट भूमि होनि आवश्यक है| इस लिए सबसे पहले एक सपाट भूमि पर लेट जाए|
  • पैरो की स्थिति दोनों पैर के अंगूठे एक दुसरे से छूने चाहिए ऐसी होनी चाहिए|
  • पहले कुछ अच्छे सांस लेने के बाद खुद की सामान्य करले|
  • अब एक लम्बी सांस लेते हुए पैर को ऊपर की और उठाये| पैर को 30 डिग्री के आसपास ऊपर उठाना चाहिए|
  • अब कुछ देर तक पैर को युही ऊपर रखे और धीरे धीरे सांस ले और छोड़े|
  • कुछ समय के बाद एक गहरी सांस को छोड़ते समय पैर को निचे की और आने दे|
  • इस तरह Utanpad aasan का एक चक्र होता है|
  • शुरू में ऐसे 2 से 3 चक्र करने चाहिए बाद में संख्या बढ़ा सकते है|

Uttanpad aasan ke fayde

हर आसन की एक विशेष स्थिति होती है| इसी स्थिति के अनुरूप प्रत्येक आसन के फायदे भी होते है| उत्तानपाद आसन के भी काफी सारे fayde है| यहाँ हम आपसे कुछ महत्वपूर्ण लाभ बता रहे है जो आपको यह आसन करने के लिए प्रेरित कर सकते है|

  • इस आसन को करने से पेट के स्नायु में तनाव आता है| इस तरह पेट के स्नायु मजबूत होते है| साथ ही पेट की जो अनावश्यक चर्बी है उसे भी दूर किया जा सकता है|
  • इसमे पैरो के स्नायु भी मजबूत होते है| ख़ास कर थाई के स्नायु को मजबूत और अच्छा ताकतवर बना सकते है|
  • इससे पेट दर्द में राहत मिलती है| पाचन शक्ति बढाती है| गैस अपच जैसी बिमारी में राहत मिलती है| नाभि को संतुलित करने में यह आसन सबसे अधिक महत्वपूर्ण है| इस आसन के माध्यमसे एब्स (abs) भी बनाये जा सकते है| कब्ज की समस्या भी इससे दूर होती है|
  • घुंटने के दर्द में भी यह आसान राहत प्रदान करता है|
  • सपाट जमीं पर करने से इस आसन के द्वारा कमर के दर्द को भी ठीक किया जा सकता है| इस आसन की सबसे महत्वपूर्ण स्थिति में कमर तक में स्नायु में खिंचाव आता है| इस आसन के माध्यम से कमर दर्द में भी राहत मिलती है|

उत्तानपाद आसन करने में सावधानियां (Precaution in Uttanpada aasan in Hindi)

किसी भी आसन को शुरू करने से पहले उसके बारे में सभी जानकारी होना आवश्यक है| उत्तानपाद आसन को करने से पूर्व इसे किन किन परिस्थिति में करना चाहिए और नहीं करना चाहिए यह जान लेना काफी आवश्यक है| इस आसन को करने से पहले निचे दी गयी परिस्थिति को अवश्य पढ़े|

  • किसी भी आसन को खाली पेट ही करना चाहिए| खाना खाने के बाद कुछ समय के बीतने पर ही आसन का अभ्यास किया जा सकता है|
  • कमर के सम्बंधित अति गंभीर समस्या होने पर इसे नहीं करना चाहिए| और कराने से पहले किसी विशेषज्ञ की सलाह अवश्य लेनी चाहिए|
  • पेट की सर्जरी होने पर भी इसे नहीं करना चाहिए| पेट की सर्जरी के समय लिए गए टांके पर खिचाव आ सकता है| ऐसे में पहले अच्छे जानकार से परामर्श अवश्य ले|
  • साइटिका, स्लिप डिस्क के रोगी को भी आसान को नहीं करना चाहिए|
  • जब भी किसी महिला गर्भवती हो तब भी इसे इस आसन से दूर रहना चाहिए|

Utanpad aasan के प्रकार

इस आसन को करने में कई तरह के वेरिएशन का उपयोग किया जाता है| जो की इसके आगे जाकर प्रकार बनाते है| उत्तानपादासन के कुछ प्रकार इस प्रकार से है जैसे की अर्ध उत्तानपाद आसन, एक पाद उत्तानपाद आसन|

निष्कर्ष

हमारे ऋषियों ने हमें इस उन्नत विज्ञान से रूबरू कराया है जो जीवन में काफी लाभकारी है| आज के इस लेख में इसी में से हमने आपको एक अंश मात्र उत्तानपाद आसन के बारे में समजाय| इस लेख में हमने आपसे उत्तानपाद आसन क्या है और कैसे किया जाता है? उत्तानपाद आसन के fayde क्या है? और क्या सावधानी रखनी चाहिए? जैसी महत्व पूर्ण इनफार्मेशन शेयर की|

हमें आशा है की आपको हमारे द्वारा दी गयी यह जानकारी पसंद आएगी| अगर आप भी इस जानकारी से संतुष्ट है तो इसे अधिक से अधिक लोगो तक शेयर करे| धन्यवाद|

Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Facebook

Advertisement

Trending