Connect with us

Be wealthy

Short selling क्या है | Short selling में क्या सावधानी रखे

Published

on

short selling kya hai hindi

गिरते शेयर से कैसे करे मुनाफा Short selling क्या है

अगर आप नए निवेशक है तो शायद ही आपने short selling के बारे में सुना होंगा| अगर आप नहीं जानते की short selling क्या है तो आज के इस लेख के माध्यम से हम आपको सभी इनफार्मेशन देंगे जिसे आप भी इससे अच्छे से निवेश कर सके और अच्छा ख़ासा पैसा कमा सके|

कभी कभी आपने सुना होंगा या शायद आपके साथ भी हुआ होगा की, 5 हजार का निवेश किया और आपको 1 लाख सेअधिक रुपये का नुकशान हो गया| ऐसे मे अगर आप उस 95 हजार के नुकशान की ब्रोकर को भरपाई नहीं करते तो आपको defaulter घोषित किया जा सकता है|

short selling एक ऐसी निवेश सिस्टम है जिसमे ऐसा संभव है की 5 हजार का निवेश करने पर 5 हजार से अधिक या कम रुपये का नुकशान या फायदा भी हो सकता है| अब समजते है की short selling क्या है|

Short selling क्या है
(What is Short Selling)

शेयर मार्केट के सन्दर्भ में अधिक लोग यही समजते है की अगर हमने किसी एक मूल्य पर शेयर को खरीदते है और वह हमारे Demat Account में आ जाते है| बाद में जब भी शेयर की price बढेगी तब उसे बेच कर मुनाफा मिलेगा| लेकिन यह एक नार्मल तरिका है जिसे शेयर बाजार में निवेश कीया जाता है| short selling इससे विपरीत सिस्टम है|

शेयर को पहले ऊँचे दाम में बेचा जाता है और जाब बादमे शेयर की price कम हो जाती है तब उसे खरीदा जाता है| इस तरह से खरीद कीमत और बेचने की कीमत में जो अंतर है वह short selling से मुनाफा है और इस पूरी [प्रक्रिया को Short selling कहा जाता है|

यह भी पढ़े

Short selling उदाहरण से समजे

Example 1: एक घर है जो अभी आपकी मालिकी का नहीं और उसकी कीमत अभी 25 लाख है| अब आपको लगता है की आगे जाके इसकी कीमत और कम हो सकती है| अब आप एक ऐसे खरीददार को खोजेंगे जो इस घर को अभी की price में लेने को तैयार है| खरीददार और आपके बिच ऐसा तय हुआ की एक महीने के बाद इसकी price कम हो जायेगी| अभी आप खरीददार से पैसे ले लेते है और जब भी घर की price कम हो जाती है तब आप उसके असली मालिक से 20 लाख में खरीदकर खरीददार को दे और बिच के जो 5 लाख का अंतर रहा वो आपका मुनाफा होता है|

Example 2: अभी एक शेयर की price 100 रुपये चल रही है और आपको लगता है की आगे जाके इसकी price 90 रुपयें हो सकती है| तो आप इसे अभी 100 रुपये में किसी को बेच सकते है और जब आपको शेयर को ट्रान्सफर कराने का समय आता है उससे ठीक पहले आप 100 से कम या 90 रुपये में शेयर को खरीद कर ट्रान्सफर कर सकते है| इस तरह की प्रक्रिया को शेयर मार्केट में Short selling कहा जाता है|

यह भी पढ़े

Short selling के प्रकार

Short selling समय पर आधारित होने की वजह से उसके प्रकार को भी समय के आधार पर विभाजित किया जाता है| Short selling के दो प्रकार है जो इस प्रकार है|

  • Intra-Day(एक दिन का समय )
  • Short Term (SLB)(आपके अनुसार)

Intraday Short Selling

Intraday Short Selling में समय मर्यादा एक दिन की होती है| मतलब की जब आप एक शेयर पहले किसी को जिस दिन बेचते हो, उसी दिन मार्केट बंद होने से पहले शेयर को खरीद लेना होता है|

अगर आप Intraday से Short Selling कर रहे है और दिन के अंत तक शेयर को नहीं खरीदते तो आपके Demat account में से तक़रीबन 3:20PM के आसपास आटोमेटिक सिस्टम से पैसे कट हो जाएगे| अगर आपके खाते में पैसे नहीं है तो आपके और शेयर की नीलामी हो सकती है और आपको Defaulter भी घोषित किया जा सकता है|

Short Term (SLB)

Short Term में आप अपने अनुकूल समय पर selling कर सकते है| लेकिन इसके लिए आपको कुछ विशेष प्रक्रिया को फॉलो करना पड़ेगा| शेयर मार्किट में कोई भी शेयर खरीदा जाता है तो उसे मैक्सिमम 2 दिन में दे दिया जाना चाहिए| यह एक सामान्य नियम है| ऐसे में जब आप किसी शेयर को बेचते हो और आपको लगता ही की यह शेयर की वैल्यू एक सप्ताह या एक माह के बाद कम होगी| लेकिन आपके पास समय मर्यादा दो दिन की ही है की आपको शेयर को खरीददार को दे देना है ऐसे में आप इसे किसी के पास उधार या लीज पर लेकर बेच सकते है| और जब आप शेयर की price कम होगी तब खरीद कर आप जिससे लीज पर शेयर लिया है उसे वापिस कर सकते है|

Short Term (SLB) को एक एक्साम्प्ले के आधार से समजते है

अगर आपने एक शेयर को 1000 रुपये में बेचा है और आपको लगता है की यह शेयर 3 माह के बाद 900 रुपये होगा तब आप उसे ख़रीदेगे| ऐसे में 3 माह की समय मर्यादा अधिक होने के कारण आपको किसी ऐसे व्यक्ति को खोजना पड़ेगा जिसके पास यह शेयर है| आप उस व्यक्ति से शेयर को कुछ दिनों तक 5 रुपये प्रति शेयर के किराये पर उधार लेकर जिसको आपने शेयर बेचा है उसे दे सकते है|

बाद में जब आपको कम कीमत में शेयर मिलेगा तब आप खरीद कर जिससे आपने उधार लिया है उसे वापिस कर सकते है और मुनाफे में से शेयर का किराया भी चूका सकते है|

यह भी पढ़े

शॉर्ट सैलिंग के फायदे

शॉर्ट सैलिंग के कुछ अधिक फायदे नहीं है| इससे आप बाज़ार में मंदीका समय चल रहा हो तब पैसे कमा सकते है| इससे बाज़ार में लिक्विडिटी बनाने में मदद मिलती है| घटते शेयर से भी पैसे कमाया जा सकता है|

शॉर्ट सैलिंग के नुकशान

फायदे के मुकाबले शॉर्ट सैलिंग से नुकशान की संभावना अधिक है| इसमे पैसे शेयर की price कम होने पर कमाया जाता है लेकिन जब से शेयर मार्केट शुरू हुआ था तब से लेकर आज तक शेयरका इंडेक्स काफी गुना बढ़ा है| इसे देखेते ही यह समज में आता है की किसी भी शेयर की price बढ़ने से मुकाबले घटने की संभावना कम होती है जिससे नुकशान की संभावना भी अधिक होती है|

शॉर्ट सैलिंग अगर फायदा होगा तो आपको ज्यादा से ज्यादा 100% होगा क्योंकि किसी भी शेयर की price 0 रुपये से नीचे नहीं जा सकती| लेकिन इससे विपरीत कोई अच्छा ट्रेंड चल रहा हो या अचानक कोई अच्छा समजोता(डील) बन जाए तो शेयर की price कितनी गुना बढ़ जाती है यह कहना काफी असंभव है| ऐसे में price जीतनी भी बढ़ेगी उतना ही आपको नुकशान हो सकता है|

यह भी पढ़े:

हमारा निष्कर्ष

हम यह व्यक्तिगत रूप से कभी भी इसे किसी को सुजाव नहीं देते और खुद भी इसपर विश्वास नहीं करते| क्योंकि यह मार्केट के विपरीत जा कर पैसे कमाने की एक स्कीम हैं जो अधिकतर समय में नुकसान दायक होती है|फिर भी आपको अपने आप पर विश्वास है और आपको लगता है की यह शेयर आगे अच्छा प्रदर्शन नहीं करेंगा तो आपको यह आजमान चाहिए|

हमें आशा है की आपको हमारी और से दिया गया यह लेख Short selling क्या है और Short selling में क्या सावधानी रखे पसंद आया होगा| अगर आप इस लेख से संतुष्ट है और आपको Short selling क्या है | Short selling में क्या सावधानी रखे इसके सन्दर्भ में अच्छी इनफार्मेशन प्राप्त हुई है तो आप हमें कमेंट करके अवश्य बताये|

आपको Short selling के विषय में और भी जानकारी चाहिए या आपको Short selling में क्या सावधानी रखे उस विषय में और भी कोई प्रश्न है तो आप हमें पूछ सकते है|

यह भी पढ़े:

Advertisement
1 Comment

1 Comment

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *

    Facebook

    Advertisement

    Trending