List of 38 World Heritage Sites in India 2021

UNESCO World Heritage Sites list of India: UNESCO द्वारा कई पूरातन संस्कृति का जतन किया जाता है| दुनिया में कई ऐसी जगह है जो की किसी देश की संस्कृति होने के बावजूद उसका मूल्य वैश्विक स्तर कर बहोत ही है| UNESCO द्वारा ऐसी धरोहर को World Heritage Sites का दर्जा दिया जाता है| भारत में ऐसी 38 जगह है जिसे इस तरह का दर्जा प्राप्त हुआ है| आज इस लेख List of World Heritage Sites in India 2021 के माध्यम से हम आपसे आपको इन सभी के विषय में महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान करेंगे|

List of World Heritage Sites in India

  1. Agra Fort (आगरा फोर्ट)
  2. Ajanta Caves (अजंता की गुफाएँ )
  3. Archaeological Site of Nalanda Mahavihara at Nalanda,(नालंदा महाविहार)
  4. Buddhist Monuments at Sanchi (साँची)
  5. Champaner-Pavagadh Archaeological Park (चंपानेर)
  6. Chhatrapati Shivaji Terminus (छत्रपति शिवाजी टर्मिनस)
  7. Churches and Convents of Goa (गोवा के चर्च)
  8. Elephanta Caves (एलिफेंटा की गुफाएँ)
  9. Ellora Caves (एलोरा की गुफाएँ )
  10. Fatehpur Sikri (फतेहपुर सिकरी)
  11. Great Himalayan National Park-Conservation Area(ग्रेट हिमालयन नेशनल पार्क)
  12. Great Living Chola Temples (चोला मंदिर)
  13. Group of Monuments at Hampi (हम्पी- स्मारकों का समूह)
  14. Group of Monuments at Mahabalipuram (महाबलीपुरम- स्मारकों का समूह)
  15. Group of Monuments at Pattadakal(पट्टडकल- स्मारकों का समूह)
  16. Hill Forts of Rajasthan (राजस्थान के पहाड़ी किले)
  17. Historic City of Ahmadabad (ऐतिहासिक शहर अहमदाबाद)
  18. Humayun’s Tomb, Delhi(हुमायूँ का मकबरा, दिल्ली)
  19. Jaipur City, Rajasthan(जयपुर शहर, राजस्थान)
  20. Kaziranga National Park(काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान)
  21. Keoladeo National Park(केवलादेव राष्ट्रीय उद्यान)
  22. Khajuraho Group of Monuments(खजुराहो समूह के स्मारक)
  23. Khangchendzonga National Park(कंचनजंगा राष्ट्रीय उद्यान)
  24. Mahabodhi Temple Complex at Bodh Gaya(बोधगया में महाबोधि मंदिर परिसर)
  25. Manas Wildlife Sanctuary(मानस वन्यजीव अभयारण्य)
  26. Mountain Railways of India (भारत का पर्वतीय रेलवे)
  27. Nanda Devi and Valley of Flowers National Parks(नंदा देवी और फूलों की घाटी राष्ट्रीय उद्यान)
  28. Qutub Minar and its Monuments, Delhi(कुतुब मीनार और इसके स्मारक)
  29. Rani-ki-Vav (the Queen’s Stepwell) at Patan, Gujarat(रानी-की-वाव)
  30. Red Fort Complex (लाल किला परिसर)
  31. Rock Shelters of Bhimbetka (भीमबेटका के रॉक शेल्टर)
  32. Sun Temple, Konârak (सूर्य मंदिर, कोणार्क)
  33. Sundarbans National Park(सुंदरबन नेशनल पार्क)
  34. Taj Mahal(ताज महल)
  35. The Architectural Work of Le Corbusier, an Outstanding Contribution to the Modern Movement
  36. The Jantar Mantar, Jaipur(जंतर मंतर)
  37. Victorian Gothic and Art Deco Ensembles of Mumbai(विक्टोरियन गोथिक और आर्ट डेको एनसेंबल्स ऑफ मुंबई)
  38. Western Ghats(पश्चिमी घाट)

World Heritage Sites India in Hindi

Agra Fort (आगरा फोर्ट) – World Heritage Sites

आगरा फोर्ट | AGRA FORT WORLD HERITAGE SITE

इसे 1983 में World Heritage Sites के रूप में दर्जा दिया गया था| आगरा फोर्ट को Cultural कक्षा में रखा गया था|

यह आगरा फोर्ट ताजमहल के काफी नजदीक स्थित है| यह किला मुगल साम्राज्य द्वारा निर्मित सबसे महत्वपूर्ण स्मारकीय संरचनाओं में से एक है। आगरा का यह किला मुग़ल एवम फ़ारसी की स्थापत्य कला से मिश्रित है| इससे पहले वह बादलगढ़ के नाम से प्रचलित था| इसे एक राजपूत राजा बादल सिंह के द्वारा बनाया गया था| इस किल्ले में खास महल, शीश महल, मुहम्मन बरी (एक अष्टकोणीय टॉवर), दीवान-ए-खास, दीवान-ए-आम, मोती मस्जिद और नगीना मस्जिद जैसे कई स्मारक शामिल हैं।

Ajanta Caves (अजंता की गुफाएँ ) – World Heritage Sites

Ajanta caves | List of World Heritage Sites in India

इसे 1983 में World Heritage Sites के रूप में दर्जा दिया गया था| Ajanta Caves (अजंता की गुफाएँ ) को Cultural कक्षा में रखा गया था|

यह भारत के पहले विश्व धरोहर में यह शामिल है| रॉक-कट गुफा स्मारकों बौद्ध धर्म से जुडी हुई है| इनमें 31 रॉक-कट बौद्ध गुफा स्मारकों, चित्रों और मूर्तिकला की सबसे सुंदर कृतियाँ शामिल हैं। इस गुफाओं का समयकाल तक़रीबन दूसरी शताब्दी ईसा पूर्व से 650 ईसा पूर्व के आसपास का होगा| सातवाहन वंश और बाद में वाकाटक राजवंश के समय काल में भी यहाँ गुफाओं का निर्माण हुआ है| यहाँ मुख्या रूप से बुद्ध के जीवन सन्दर्भ में नक्काशी एवम मुर्तिया मिलती है|

Nalanda Mahavihara, (नालंदा महाविहार)

Nalanda Mahavihara, (नालंदा महाविहार) | List of World Heritage Sites in India

इसे 2016 में World Heritage Sites के रूप में दर्जा दिया गया था| Nalanda Mahavihara, (नालंदा महाविहार) को Cultural कक्षा में रखा गया था|

नालंदा महाविहार पुरातविक स्थल 3 वीं शताब्दी ईसा पूर्व से 13 वीं शताब्दी ईसा पूर्व तक पढने और सिखने का बहोत बड़ा केंद्र रहा है| यहाँ पर देश विदेश से कई सारे लोग पढने आते थे| यह यूनिवर्सिटी के अलावा एक बौध मठ भी था| आज यह एक खंडर के हालात में स्थित है| यहाँ वैदिक शिक्षा दी जाती थी| तिब्बत, चीन, कोरिया और मध्य एशिया से लोग पढाई करने आते थे| यहाँ पर पढने के लिए आने वाले लोगो के लिए रहने की भी अच्छी व्यवस्था थी|

Sanchi (साँची)- World Heritage Sites

Sanchi (साँची) | World Heritage Sites

इसे 1989 में World Heritage Sites के रूप में दर्जा दिया गया था| Sanchi (साँची) को Cultural कक्षा में रखा गया था|

मध्य प्रदेश के सांची में स्थित यह बौद्ध स्मारक तीसरी शताब्दी ईसा पूर्व में सम्राट अशोक द्वारा बनाया गया था| ये भारत की सबसे पुरानी संरचना में से एक मानी जाती है| सातवाहन के काल के समय इस stup को पुनर्निर्मित किया गया था| साथ ही प्रवेशद्वार और अन्य निर्माण भी किया गया था| साँची के stup के अलावा यह और भी ऐसी कई साईट है जैसे की अखंड स्तंभ, मंदिर, महल और मठ| यह सभी 12वि शताब्दी तक बौद्ध धर्म के लिए एक काफी महत्वपूर्ण स्थल बना हुआ है|

Champaner-Pavagadh (चांपानेर)

List of World Heritage Sites in India | Champaner
  • विश्व धरोहर में 2004 में शामिल हुआ था|
  • मानदंड: सांस्कृतिक क्षेत्र में इसे पसंद किया गया है|

यह गुजरात का पहला विश्व धरोहर स्थल है जिसे 2004 में यूनेस्को द्वारा बनाया गया था। इसमें 8 वीं शताब्दी से लेकर 14 वीं शताब्दी तक के प्राचीन अवशेष शामिल हैं। चंपानेर की स्थापना राजा वनराज चावड़ा ने अपने जनरल के नाम से की थी।

कई इमारतें और साइटें हैं जैसे कि प्रागैतिहासिक चालकोलिथिक साइट्स, उस समय की राजधानी के अवशेष, कृषि और जल आपूर्ति का निर्माण, धार्मिक इमारतें, और महल भी प्राप्त हुआ है|

Chhatrapati Shivaji Terminus (छत्रपति शिवाजी टर्मिनस)

List of World Heritage Sites in India
World Heritage Sites में शामिल वर्ष 2004
वैश्विक धरोहर का प्रकार Cultural

छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस को पहले विक्टोरिया टर्मिनस के नाम से जाना जाता था| इसे फ्रेडरिक विलियम स्टीवंस ने बनवाया था| इटैलियन गॉथिक रिवाइवल आर्किटेक्चर और पारंपरिक मुगल इमारतों से प्रेरणा लेकर इसे बनवाया गया है|

छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस में भारतीय एवम पश्चिमी शैली की वास्तुकला का सुन्दर सम्मिश्रण देखने को मिलता है| इसे 1878-1888 के बीच विक्टोरियन से प्रेरणा लेकर बनाया था| इस धरोहर स्थल के संरक्षण को सुनिश्चित करने के लिए और काम किए जाने की जरूरत है।

Churches and Convents of Goa (गोवा के चर्च)

Churches and Convents of Goa (गोवा के चर्च)
World Heritage Sites में शामिल वर्ष1986
वैश्विक धरोहर का प्रकारCultural

इसमे कई तरह की चर्च और कॉन्वेंट को शामिल किया गया है| जैसे की सेंट कैथरीन चैपल, चर्च और कॉन्वेंट ऑफ सेंट फ्रांसिस ऑफ असीसी, बासिइला डो बोम जीसस, इग्रीजा डी साओ फ्रांसिस्को डी असिस, चर्च ऑफ सेंट कजेटन और इसका मदरसा, चर्च ऑफ आवर लेडी ऑफ द रोजरी और चर्च ऑफ सेंट ऑगस्टाइन।

भारत में पंद्रहवी से सोलहवी शताब्दी के बिच इसाई धर्म की शुरुआत हुई थी| पुर्तगाल के लोगो ने जब कोंकण के तट पर और गोवा में अपने निवास स्थान को शुरू किया था तब वहा Churches and Convents बनना शुरू हुआ था| इसे इसाई धर्म के प्रचार के लिए बनाया गया था| उनेस्को द्वारा इसकी सुन्दर कला को देखते हुए World Heritage Site में शामिल किया है| यह स्थान भारत की विविध धार्मिक और सांस्कृतिक विरासत के उदाहरण के रूप में कार्य करता है।

Elephanta Caves (एलिफेंटा की गुफाएँ)- World Heritage Sites

List of World Heritage Sites in India
World Heritage Sites में शामिल वर्ष1987
वैश्विक धरोहर का प्रकारCultural

यह सभी गुफाए बेसाल्ट के पत्थरो में बनायी गयी है| यह मुंबई से सिर्फ 10 किलोमीटर दूर स्थित अरब समुद्र में स्थित है| इसे अन्य नाम धारपुरी के नाम से भी जाना जाता है| यह गुफा अपनी रॉक-कट की मूर्तियों और नक्काशी के लिए प्रसिद्ध हैं| इस गुफा में शिव को निर्माता एवम ब्रह्मांड के विनाशक के रूप में दिखाया गया है|

इस गुफा में भारत की पुरातत्वीय संस्कृति की जलक भी देखने को मिलती है|

Ellora Caves (एलोरा की गुफाएँ )

Ellora Caves (एलोरा की गुफाएँ ) वर्ल्ड हेरिटेज साईट
World Heritage Sites में शामिल वर्ष1983
वैश्विक धरोहर का प्रकारCultural

एलोरा की गुफाएँ औरंगाबाद शहर से 29 किलोमीटर दूर स्थित है| इसमे 34 रॉक-कट मंदिर और गुफाएं हैं| इस गुफा का निर्माण समय लगभग 600 से 1000 ईस्वी पूर्व हो सकता है| यहाँ हिंदू, बौद्ध और जैन मंदिरों और मूर्तियों को देखा जा सकता है जिसे यह समाज जा सकता है की उस समय में धर्म के प्रति सभी लोg काफी सहिष्णु थे|

विश्व प्रसिद्द कैलास मंदिर, विहार और 5 वीं और 10 वीं शताब्दी के मठ भी है| एलोरा की गुफाएं अपने भारतीय रॉक-कट वास्तुकला के लिए अच्छी तरह से जानी जाती हैं।

Fatehpur Sikri (फतेहपुर सिकरी)

Fatehpur Sikri (फतेहपुर सिकरी)
World Heritage Sites में शामिल वर्ष1986
वैश्विक धरोहर का प्रकारCultural

फतेहपुर सिकरी में बुलंद दरवाजा, जमा मस्जिद, पंच महल, दीवान-ए-ख़ास और दीवान-ए-आम जैसी कई इमारते शामिल है| ये सभी इमारते फतेहपुर सिकरी के unesco हेरिटेज का ही हिस्सा है| चित्तौड़ और रणथंभौर को जितने के बाद फतेहपुर सिकरी को बसाया था| जिसमे बुलंद दरवाजा एशिया का सब्द्से बड़ा दरवाजा है|

Great Himalayan National Park-Conservation Area(ग्रेट हिमालयन नेशनल पार्क)

Great Himalayan National Park-Conservation Area(ग्रेट हिमालयन नेशनल पार्क) | List of World Heritage Sites in India
World Heritage Sites में शामिल वर्ष2014
वैश्विक धरोहर का प्रकारNatural

भारत के राष्ट्रिय उद्यानों में से एक ग्रेट हिमालयन नेशनल पार्क भी भारत के वैश्विक धरोहर में शामिल है| यह तक़रीबन 754.4 वर्ग किलोमीटर में फैला हुआ क्षेत्र है| इस क्षेत्र में विविध पौधों एवम प्राणीओं की दुर्लभ प्रजाति शामिल है| नीली भेड़, हिम तेंदुआ, हिमालयी भूरा भालू, हिमालयन ताहर, कस्तूरी मृग, घोड़े जैसी कई प्रजाति इसमें शामिल है|

यह प्रदेश मुख्यत्वे हिम नदी औरर सिन्धु नदी की सहायक नदी से बना हुआ है| यहाँ वन्यजीवों को संरक्षण प्राप्त होने के कारण किसी भी प्रकार से किसी भी जानवर का शिकार पूरी तरह से प्रतिबंधित है| यह हिमालयन जैव विविधता हॉटस्पॉट का एक हिस्सा है।

Great Living Chola Temples (चोला मंदिर)

Great Living Chola Temples (चोला मंदिर)
World Heritage Sites में शामिल वर्ष1987,2004
वैश्विक धरोहर का प्रकारCultural

यह हेरिटेज स्थल दक्षिण भारत में स्थित है जिसे राज राज चौला ने बनाया था| यहाँ पर बृहदिश्वर मंदिर, गंगईकोंडा चोलपुरम, और ऐरावतेश्वर मंदिर इन सभी मंदिरों में सबसे महत्वपूर्ण हैं| गंगईकोंडचोलपुरम मंदिर भगवान् शिव को समर्पित है जिसे राजेंद्र 1 बनाया गया था| ऐरावतेश्वर मंदिर राजाराज II के समय में बनाया गया था ये मंदिर चोल कला, वास्तुकला और मूर्तिकला की भव्यता और सुंदरता के उत्तम प्रेषक है|

बृहदिश्वर मंदिर राजराजा 1 के शासनकाल में बनाया गया था जो की वास्तुकला और चोल संस्कृति का एक बहुत ही बड़ा उदाहरण है| इस मंदिर की विशेषता है की इसकी परछाई कभी भी जमीन पर नहीं गिरती है| यह सभी मंदिर तमिल संस्कृति की विशेषता को दर्शाते है|

Group of Monuments at Hampi (हम्पी- स्मारकों का समूह)

Group of Monuments at Hampi (हम्पी- स्मारकों का समूह)
World Heritage Sites में शामिल वर्ष1986
वैश्विक धरोहर का प्रकारCultural

यूनेस्को विश्व धरोहर स्थल में स्थान प्राप्त हम्पी कर्णाटक में स्थित है| हम्पी से हम विजयनगर के प्राचीन और समृद्ध साम्राज्य का अनुमान लगा सकते है| हम्पी में स्थित विरुपाक्ष मंदिर यहाँ का महत्वपूर्ण स्थल है| अभी के समय में यहाँ सभी विरासत स्थल की हालत खंडहर की तरह है|

यह सभी द्रविड़ शैली से बने हुए है| जो प्राचीन समय में स्थानीय लोगो के बिच महत्वपूर्ण धार्मिक केंद्र बना हुआ होगा| यहाँ सभी स्मारकों के समूह को वैश्विक धरोहर माना गया है| विरूपाक्ष मंदिर के अलावा यहाँ पर कृष्ण मंदिर परिसर, अच्युतराय मंदिर परिसर, हेमकुता मंदिरों का समूह, विठ्ठला मंदिर परिसर, पट्टाभिराम मंदिर परिसर, लोटस महल परिसर, भी शामिल है|

Group of Monuments at Mahabalipuram (महाबलीपुरम- स्मारकों का समूह)

List of World Heritage Sites in India
World Heritage Sites में शामिल वर्ष1984
वैश्विक धरोहर का प्रकारCultural

महाबलीपुरम- स्मारकों का समूह में पंच रथ मंदिर, गणेश रथ, महाबलिपुरम के गुफा मंदिर, शोर मंदिर जैसे कई रचनात्मक मंदिर इसमे शामिल है| पल्लव राजवंश वास्तुकला के मंदिर के अलावा रथ मंदिर, प्रसिद्ध / सबसे बड़ा ओपन एयर रॉक रिलीफ भी

यह चेन्नई से तक़रीबन 58 किलोमीटर दूर पल्लव शासकों के शासनकाल में बनाया गया था| इन सभी मंदिरों की खासीयत यह है की ये सभी मंदिर चट्टान से उकेरे गए हैं| रथ मंदिर एक विशेष आकर्षण का केंद्र है क्योंकि यहाँ पर पांडवो के रथ मंदिर भी स्थित है| कई गुफा मंदिर भी यहाँ शामिल है|

Group of Monuments at Pattadakal(पट्टडकल- स्मारकों का समूह)

Group of Monuments at Pattadakal(पट्टडकल- स्मारकों का समूह)
World Heritage Sites में शामिल वर्ष1987
वैश्विक धरोहर का प्रकारCultural

हल कर्णाटक में स्थित है| यह कर्णाटक का एक महत्वपूर्ण पर्यटक स्थल मन जाता है| चालुक्य शैली की वास्तुकला में बने यह मंदिर चालुक्य वंश के समृद्धि की गवाही देते है| इसमे कई कई पर द्रविड़ और नागर शैली का मिश्रण देखने को मिलता है|

चालुक्य वंश के समय यहाँ पर कई चालुक्य राजा ने राज्य अभिषेक किये थे| भगवान् शिव के साथ जैन मंदिर भी भी देखने को मिलते है| प्रसिद्ध स्मारक हैं- विरुपाक्ष मंदिर, संगमेश्वर मंदिर, चंद्रशेखर मंदिर, मल्लिकार्जुन मंदिर, काशी विश्वनाथ मंदिर, जगन्नाथ मंदिर, जैन मंदिर और कई अन्य

Hill Forts of Rajasthan (राजस्थान के पहाड़ी किले)

List of World Heritage Sites in India
World Heritage Sites में शामिल वर्ष2013
वैश्विक धरोहर का प्रकारCultural

भारत (2013) में विश्व धरोहर स्थलों की सूची में हालिया परिवर्धन में से एक, यह स्थान अपने अनोखे राजपूत सैन्य है। इसमें किले में वे राजस्थान में चट्टानी अरावली पर्वत श्रृंखला पर स्थित हैं। किलों की लंबाई और विस्तार राजपूताना के शासकों और सरदारों की शक्ति और शक्ति को चित्रित करने के लिए पर्याप्त है। इन किलों के किले शक्तिशाली हैं। किले की दीवारों के भीतर, यह लगभग ऐसा था जैसे कोई मिनी-शहर मौजूद हो। कई बाजार, और हम जानते हैं कि इनमें से कुछ बच गए हैं। इसके अलावा, यह फिल्म की शूटिंग के स्थान, द डार्क नाइट राइज़ और सत्यजित रे की कुछ फ़िल्मों जैसे ‘शोना केला’ के लिए भी जानी जाती है।

इस वैश्विक धरोहर स्थल में राजस्थान के छह राजसी किले शामिल हैं। यह छह किले चित्तौड़गढ़, कुंभलगढ़, रणथंभौर किला, गागरोन किला, अंबर किला और जैसलमेर का किला शामिल है| इन सभी किलों की रचना एवम महल की सुन्दरता उस वख्त के राजा के राजसी ठाठ एवम शक्ति को प्रदर्शित करते है|

यह राज्य की रक्षा हेतु अपने विशेष रक्षाचरित्र के लिए प्रसिद्ध थे| इन किलों को जितने के लिए विरोधी दल को काफी मशक्कत करनी पड़ती थी| इनमे बाजार, महल, मंदिर, शहरी और व्यापारिक केंद्र आदि थे| इन किलों में अद्वितीय जल भंडारण और कटाई संरचनाएं थीं, जो वास्तव में आज भी उपयोग की जा रही हैं।

Historic City of Ahmadabad (ऐतिहासिक शहर अहमदाबाद)

Historic City of Ahmadabad (ऐतिहासिक शहर अहमदाबाद)
World Heritage Sites में शामिल वर्ष2017
वैश्विक धरोहर का प्रकारCultural

अहमदाबाद का इतिहास काफी पुराना है, इसे आशावल राजा ने बनवाया था, और इसका नाम बदलकर अशवल्ली रखा गया था, बाद में इसका नाम बदलकर कर्णदेवने कर्णावती कर दिया। वर्तमान अहमदाबाद 1411 में सुल्तान अहमद शाह प्रथम द्वारा बनाया गया था। उस समय अहमदाबाद को गुजरात की राजधानी भी बनाया गया था|

सुल्तान अहमद शाह ने 12 दरवाजें और 189 टावरों के साथ एक बड़ी दीवार के साथ अहमदाबाद की रक्षा की। इसे यूनेस्को द्वारा 2017 में विश्व विरासत स्थल घोषित किया गया था|

यह भारत का पहला हेरिटेज सिटी है|

Humayun’s Tomb, Delhi(हुमायूँ का मकबरा, दिल्ली)

List of World Heritage Sites in India | Humayun's Tomb, Delhi(हुमायूँ का मकबरा, दिल्ली)
World Heritage Sites में शामिल वर्ष1993
वैश्विक धरोहर का प्रकारCultural

हुमायूँ की पहली पत्नी बेगम बेगा द्वारा 1565-1572 के बीच इस स्थल का निर्माण किया गया था। इसमे कई बार जीर्णोद्धार कार्य किया गया है और इसे पूर्ण भी किया गया है| यह एक समाधी स्थल है जहा कई सारी कबर है| इसमे से एक ईसा खान नियाज़ी की भी कब्र है|

Jaipur City, Rajasthan(जयपुर शहर, राजस्थान)

Jaipur City, Rajasthan(जयपुर शहर, राजस्थान)
World Heritage Sites में शामिल वर्ष2019
वैश्विक धरोहर का प्रकारCultural

गुलाबी नगरी जयपुर भी भारत के वैश्विक धरोहर स्थलों में स्थान प्राप्त है| इस शहर ने आजतक अपने आकर्षक रूप को बरकरार रखा है| यह शहर की दीवाल और घरो की बाहरी दीवाल गुलाबी रंग से रंगा हुआ होने के कारण यह काफी आकर्षक लगता है| जयपुर में अन्य एक और वैश्विक धरोहर जंतर मंतर के सहित स्थानीय बाज़ारों, बापू बाज़ार, त्रिपोलिया बाज़ार और जौहरी बाज़ार काफी लोकप्रिय स्थान है|

यहाँ कई शानदार कीलें और महल भी है जिसने शहर की सुन्दरता और बढाई है|

Kaziranga National Park(काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान)

List of World Heritage Sites in India
World Heritage Sites में शामिल वर्ष1985
वैश्विक धरोहर का प्रकारNatural

यह वाइल्ड लाइफ सेंचुरी एक सींग वाले गैंडे के लिए काफी प्रचलित है| यहाँ पर पुरे विश्व के 2/3 एक सींग वाले गैंडे मिलते है| इनके अलावा बाघों की सबसे उच्च घनत्व वाली जगह भी यही है| हाथियों के साथ, जंगली भैंस, और दलदल हिरण भी इसी जगह देखने मिलते है|

भारत में यह वाइल्ड लाइफ सेंचुरी lord कर्ज़न के द्वारा शुरू की गयी थी| ब्रह्मपुत्र नदी के बाढ़ के मैदानों पर स्थित यह पार्क अछूत और कई पक्षियों के लिए भी संरक्षण दाता है| काजीरंगा में लगभग 15 लुप्तप्राय भारतीय जीव प्रजातियाँ हैं, जिनमें से राइनो सबसे लुप्तप्राय है। अन्य प्राणी में कैप्ड लंगूर, हूलॉक गिब्बन, टाइगर, तेंदुआ, सुस्ती भालू, गंगा डॉल्फिन, ओटर, जंगली सूअर, पानी भैंस, गौर, सांभर, दलदल हिरण, हॉग हिरण और भारतीय मंटक शामिल हैं।

Keoladeo National Park(केवलादेव राष्ट्रीय उद्यान)

Keoladeo National Park(केवलादेव राष्ट्रीय उद्यान)
World Heritage Sites में शामिल वर्ष1985
वैश्विक धरोहर का प्रकारNatural

यह बर्ड सैंक्चुअरी मानव निर्मित है| पक्षीविद के लिए यह काफी प्रचलित स्थान है क्योंकि साइबेरियन क्रेन्स यहाँ काफी देखने को मिलते है| इसे भरतपुर पक्षी अभ्यारण के नाम से भी जाना जाता है|

यहाँ पर पक्षी की तक़रीबन 366 विभिन्न प्रजातिया देखने को मिलती है| 29 वर्ग किलोमीटर में फैला यह पक्षी अभ्यारण शिकार प्रतिबंधित है| यहाँ पर पक्षियों के अलावा, जैव विविधता पर बात करे तो 379 पुष्प प्रजातियाँ, मछली की 50 प्रजातियाँ, साँप की 13 प्रजातियाँ, छिपकली की सात प्रजातियाँ, उभयचर की सात प्रजातियाँ, सात कछुए की प्रजातियाँ और अन्य अकशेरुकी प्रजातियों का निवास स्थान है।

Khajuraho Group of Monuments(खजुराहो समूह के स्मारक)

Khajuraho Group of Monuments(खजुराहो समूह के स्मारक) | वैश्विक धरोहर
World Heritage Sites में शामिल वर्ष1986
वैश्विक धरोहर का प्रकारCultural

खजुराहो एक प्रसिद्ध यूनेस्को विश्व विरासत स्थल है जो भारत के मध्य प्रदेश राज्य में स्थित है| यह एक द्वितीय स्थल है जो झाँसी से तक़रीबन 170 km दूर स्थित है| यहाँ पर जैन और हिन्दू मंदिर में बहेतरीन कारीगरी देखने को मिलती है|

खजुराहो के मंदिर पर कामुक पोज में मानव और जानवरों के चित्रों नक्काशी बहुत ही खूबसूरती से चित्रित की गई है और यह भारत की समृद्ध सांस्कृतिक विरासत की गवाही देती है। यह सभी स्थापत्य नागर शैली में चंदेला राजवंश के शासनकाल में बनाए गए थे| यह 20 km वर्ग में 85 जितने मंदिर है इसमे से कंदरिया मंदिर सबसे प्रमुख है।

Khangchendzonga National Park(कंचनजंगा राष्ट्रीय उद्यान)

World Heritage Sites में शामिल वर्ष2016
वैश्विक धरोहर का प्रकारMixed

कंचनजंगा राष्ट्रीय उद्यान सिक्किम के उत्तर और पश्चिम सिक्किम जिलों के हिमालयन रेंज में स्थित है| इसे कंचनजंगा बायोस्फीयर रिजर्व के रूप में भी जाना जाता है| समुद्र तल से इसकी ऊंचाई 1,829 मीटर है जो 850 वर्ग किलोमीटर से अधिक का एक विशाल क्षेत्र में फैला हुआ है| इसी क्षेत्र में कंचनजंगा चोटी शामिल है जो दुनिया की तीसरी सबसे ऊँची चोटी है| राष्ट्रीय उद्यान अपने जीव-जंतुओं और वनस्पतियों की विविधता के लिए प्रसिद्ध है| यहाँ कभी कभी तेंदुए भी देखने को मिलते है| ट्रैकिंग पसंद लोगों के लिए कुछ ट्रैकिंग मार्ग हैं।

Kumbh Mela (कुंभ मेला) – World Heritage Sites

Kumbh Mela (कुंभ मेला)
World Heritage Sites में शामिल वर्ष2017
वैश्विक धरोहर का प्रकारCultural

इसे भारत की आमुर्ट सांस्कृतिक विरासत का दर्जा मिला है| हरिद्वार, उज्जैन, प्रयाग (इलाहाबाद) और नासिक में तीन वर्षों में एक बार कुंभ मेला मनाया जाता है। किसी भी स्थान में एक बार कुम्भ मेला होने के बाद बारह सालबाद वह फिरसे आयोजित होता है| लाखो लोग इस कुम्भ के मेले के दर्शन करते है|

Mahabodhi Temple Complex at Bodh Gaya(बोधगया में महाबोधि मंदिर परिसर)

List of World Heritage Sites in India Mahabodhi Temple Complex at Bodh Gaya(बोधगया में महाबोधि मंदिर परिसर)
World Heritage Sites में शामिल वर्ष1999,2005,2008
वैश्विक धरोहर का प्रकारCultural

यूनेस्को द्वारा मान्यता प्राप्त भारतीय विरासत स्थलों में से एक महाबोधि मंदिर परिसर बोध गया में स्थित है जो को पटना से 96kilometrese दूर स्थित है| यह बौध धर्म के लोगो के लिए प्रमुख केंद्र है क्योंकि यही वह स्थान था जहाँ महात्मा बुद्ध ने आत्मज्ञान प्राप्त किया था और सिद्धार्थ में से गौतम बुद्ध बने थे|

250 ईसा पूर्व में अशोक के शासनकाल में यह प्रसिद्ध महाबोधि मंदिर की स्थापना की गई थी। यह सबसे प्राचीन बौध मंदिरों में से एक है| बोधगया को बौद्धों के लिए सबसे पवित्र तीर्थ स्थान माना जाता है क्योंकि महाबोधि मंदिर, वज्रासन, पवित्र बोधि वृक्ष, और बुद्ध के ज्ञानोदय के अन्य छह पवित्र स्थल शामिल हैं|

Manas Wildlife Sanctuary(मानस वन्यजीव अभयारण्य)

World Heritage Sites में शामिल वर्ष1985
वैश्विक धरोहर का प्रकारNatural

भारत में यूनेस्को की विश्व धरोहर स्थलों में से एक मानस वन्यजीव अभयारण्य “प्रोजेक्ट टाइगर रिज़र्व”, “एलीफैंट रिज़र्व” और “बायोस्फीयर रिज़र्व”, “असम रूफर्ड टर्टल”, “हिसपिड हरे”, “गोल्डन लंगूर” और “पैगी हॉग” के लिए प्रसिद्ध है।

यह पूर्वोत्तर भारतीय राज्य असम में स्थित है। देवी मानसा से उत्पन हुई नदी मानस के नाम पर इसे रखा गया है| इस पार्क में भारत में किसी भी अन्य की तुलना में सबसे अधिक लुप्तप्राय प्रजातियां हैं। हरे-भरे जंगलों वाली पहाड़ियों और घनी वनस्पतियाँ, यहाँ रहने वाले जानवरों की कई लुप्तप्राय प्रजातियों को एक आरामदायक वातावरण प्रदान करती हैं।

Mountain Railways of India (भारत का पर्वतीय रेलवे)

Mountain Railways of India (भारत का पर्वतीय रेलवे) | World Heritage Site
World Heritage Sites में शामिल वर्ष1999,2005,2008
वैश्विक धरोहर का प्रकारCultural

भारत के में शामिल हैं और ये भारत में विश्व धरोहर स्थलों का एक हिस्सा हैं। उत्तर बंगाल पृथ्वी पर सबसे सुंदर प्राकृतिक प्रलोभनों में से एक है। , सभी आपके आनंद को पूरा करेंगे। , ये बीहड़ पहाड़ों और भारत की विरासत में एक मणि से संपर्क की समस्या का एक साहसिक और सरल समाधान थे। इसके अलावा वे सबसे खूबसूरत इलाके से गुजरते हैं और आप यहां एक रोमांटिक और मजेदार सवारी करना पसंद करेंगे।

भारत में यूनेस्को की विश्व धरोहर स्थलों में पर्वतीय रेलवे भी शामिल है| दार्जिलिंग हिमालयन रेलवे, नीलगिरि पर्वत रेलवे और कालका-शिमला रेलवे इस विश्व धरोहर का हिस्सा है|

यहाँ का प्राकृतिक दृश्य पृथ्वी पर की सबसे खुबसूरत जगह में से एक माना जाता है| फन टॉय ट्रेन, खूबसूरत चाय बागान और लंबी सुरंगें या टाइगर हिल्स पर से निकलती ट्रेन एक आह्लादक अनुभव को प्रदान करती है| 19 वीं और 20 वीं शताब्दी की शुरुआत में निर्मित की गयी थी| इस दुर्गम विस्तार में से निकलती यह ट्रेन इंजीनियरिंग चमत्कार में से एक है|

Nanda Devi and Valley of Flowers National Parks(नंदा देवी और फूलों की घाटी राष्ट्रीय उद्यान)

Nanda Devi and Valley of Flowers National Parks(नंदा देवी और फूलों की घाटी राष्ट्रीय उद्यान)
World Heritage Sites में शामिल वर्ष1988,2005
वैश्विक धरोहर का प्रकारNatural

यह रितागे स्थल एशियाटिक ब्लैक बियर, स्नो लेपर्ड, ब्राउन बियर, ब्लू शीप और हिमालयन मोनाल, बायोस्फीयर रिजर्व्स के लिए पुरे विश्व में प्रसिध्ध है| नंदा देवी चोटी भारत के सबसे ऊँची चोटी मानी जाती है| इस पर्वत की दूसरी चोटी सुनंदा चोटी के नाम से भी जानी जाती है| पुराणों में और उपनिषद में भी सुनंदा चोटी का काफी विवरण और महत्व दिखाया गया है| इसकी ऊंचाई 6400 मीटर तक है|

लंबाई में 8 किलोमीटर और चौड़ाई 2 किलोमीटर में फूलों की घाटी है जो नंदा देवी शिखर के पास एक राष्ट्रीय उद्यान के रूप में स्थित है| भारत में यह विश्व धरोहर स्थल फ्लोरा की 600 से अधिक प्रजातियों और 520 से अधिक फौना की प्रजातिया देखने को मिलती है| फूलो की इस आश्चर्यजनक विविधता के कारण पूरी घाटी बेडशीट की तरह दिखती है|

Qutub Minar and its Monuments, Delhi(कुतुब मीनार और इसके स्मारक)

World Heritage Sites में शामिल वर्ष1993
वैश्विक धरोहर का प्रकारCultural

भारत के इस वैश्विक धरोहर के स्थल पर कुतुब मीनार, अलाई दरवाजा, अलाई मीनार, कुब्बत-उल-इस्लाम मस्जिद, इल्तुमिश का मकबरा और लौह स्तंभ शामिल हैं।

इसमें कुतुब मीनार अंतिम हिन्दू शाशक के पराजय के बाद 1193 के बाद मुस्लिम शासक कुतुब-उद-दीन ऐबक द्वारा बनाया गया था| यह काफी प्रसिध्ध और ऊंचाई के कारण काफी आकर्षक भी है| यह 73 मीटर लंबा है, 15 मीटर का व्यास और शीर्ष पर 2.5 मीटर है। इस स्तम्भ का सन्मान इसका निर्माण ऐबक ने प्रसिद्ध सूफी संत कुतबुद्दीन बख्तियार काकी के सम्मान के लिए किया था।

Rani-ki-Vav (the Queen’s Stepwell) at Patan, Gujarat(रानी-की-वाव)

World Heritage Sites में शामिल वर्ष2014
वैश्विक धरोहर का प्रकारCultural

रानी की वाव गुजरात राज्य में पाटन जिले के पाटन शहर में स्थित एक ऐतिहासिक वाव (स्टेपवेल) है। इसका निर्माण भीमदेव-प्रथम की पत्नी रानी उदयमति द्वारा किया गया था, इस पहल के पीछे मुख्य उद्देश्य लोगों को पानी उपलब्ध कराना था। इसे 11 वीं शताब्दी के उत्तरार्ध में बनाया गया था।

भारतीय रिज़र्व बैंक द्वारा वर्ष 2016 में जारी किए गए नए 100 रुपये के नोटों में रानी की वाव को दिखाया गया है।

यह वाव पाटन शहर का एक शानदार स्थान है जो देश और विदेश के अन्य हिस्सों से हजारों पर्यटकों द्वारा दौरा किया जाता है।

Red Fort Complex (लाल किला परिसर) – World Heritage Sites

Red Fort Complex (लाल किला परिसर)
World Heritage Sites में शामिल वर्ष2007
वैश्विक धरोहर का प्रकारCultural

यह विश्व धरोहर स्थलमें शाहजहानाबाद, फ़ारसी, तैमूरी और भारतीय वास्तुकला शैलियाँ, रेड सैंडस्टोन वास्तुकला, मोती मस्जिद भी शामिल है| देल्ही में स्थित लाल किले का निर्माण मुग़ल राजा शाहजहाँ के द्वारा किया गया था| बाद में यह किला देल्ही की गाडी का साम्राज्य बन गया था|

लाल किला भारत के सबसे प्रसिद्ध यूनेस्को विश्व धरोहर स्थलों में से एक है| लाल किला के इंडो-इस्लामिक, तैमूरिद, हिंदू और फारसी वास्तुकला के सम्मिश्रण को देखा जा सकता है। यह किला लाल बलुआ पत्थर से बना है| इसमें कई अन्य छोटे भवन हैं जैसे निजी मंडप, दीवान-ए-आम, दीवान-ए-खास मौजूद है| इसका प्रबंधन सीधे भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण द्वारा किया जाता है।

Rock Shelters of Bhimbetka (भीमबेटका के रॉक शेल्टर)

List of World Heritage Sites in India | Rock Shelters of Bhimbetka (भीमबेटका के रॉक शेल्टर)
World Heritage Sites में शामिल वर्ष2003
वैश्विक धरोहर का प्रकारCultural

भीमबेटका के रॉक शेल्टर रॉक पेंटिंग के लिए प्रसिद्ध है| इसके अलावा म (महाभारत) के बैठने की जगह के लिए भी प्रसिद्द है|

यहाँ पर भारतीय उपमहाद्वीप पर जब से मानव जीवन की शुरुआत हुई थी तबके शुरूआती निशान पाए गए है| यह विंध्याचल पर्वत की तलहटी में स्थित है| इसे सबसे पहले 1957 में खोजा गया था| यह मेसोलिथिक युग की नक्काशी और चित्रों के लिए प्रसिद्ध हैं| यहाँ पाए जाने वाले चित्र शिकार करने वाले शिकारी के जीवन और गतिविधियों के बारे में बताने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं| यह लगभग 100000 साल से भी पुराने समय से स्थित है|

Sun Temple, Konârak (सूर्य मंदिर, कोणार्क)

Sun Temple, Konârak (सूर्य मंदिर, कोणार्क) | वैश्विक धरोहर
World Heritage Sites में शामिल वर्ष1984
वैश्विक धरोहर का प्रकारCultural

यह पुरातत्वीय स्थल भारत के सात अजूबो में शामिल है| जो वैश्विक धरोहर में भी शामिल है| इसे अन्य नाम ब्लैक पेगोडा के नाम से भी जाना जाता है| इसके अलावा भगवान् सूर्य का रथ, और कलिंग वास्तुकला के लिए यह काफी प्रसिध्ध है|

यह 13वी शताब्दी का मंदिर ओडिशा में कोर्णाक में स्थित है| गंग राजवंश के राजा नरसिंहवर्मन के द्वारा इसे बनाया गया था| यहाँ स्थित कोर्णाक का सूर्य मंदिर एक विशाल रथ के आकार में स्थित है जिसे छह विशाल घोड़े के द्वारा खीचा जाता हो ऐसी तरह से दिखाया गया था|

Sundarbans National Park(सुंदरबन नेशनल पार्क)

World Heritage Sites में शामिल वर्ष1987
वैश्विक धरोहर का प्रकारNatural

यह World Heritage Site बायोस्फीयर रिजर्व, एस्टुरीन मैंग्रोव वन, बंगाल टाइगर और नमक-पानी मगरमच्छ के लिए प्रसिद्द है| यह बांग्लादेश के साथ बॉर्डर को साँझा करता है|

पश्चिम बंगाल में स्थित यह बायोस्फीयर रिजर्व पुरे विश्व में बंगाल टाइगर के नाम से प्रसिद्द है| यह एक डेल्टा प्रदेश है जो भारत में गंगा नदी के द्वारा बनाया जाता है| यहाँ लुप्तप्राय रॉयल बंगाल टाइगर, अन्य जानवरों की प्रजातियाँ भी हैं जैसे कि गैंगेटिक डॉल्फिन, चित्तीदार हिरण, जंगली सूअर और अन्य स्तनपायी और उभयचर प्रजातियाँ भी देखने को मिलती है|

Taj Mahal(ताज महल) – World Heritage Sites

List of World Heritage Sites in India | Taj Mahal(ताज महल)
World Heritage Sites में शामिल वर्ष1983
वैश्विक धरोहर का प्रकारCultural

मुग़ल वास्तुकला से बना यह स्मारक विश्व धरोहर के अलावा विश्व के सात अजूबो में भी इसको स्थान प्राप्त है| इसे सफ़ेद संगेमरमर के द्वारा शाहजहाँ ने अपनी पत्नी मुमताज की याद में बनाया था|

आगरा में स्थित यह ताज महल 1653 में 32 मिलियन रुपये में बनाया गया था जिसकी आज के समय में लागत 58 बिलियन हो सकती है| इसे दुनिया के सभी मुस्लिम वास्तुकला का सबसे उत्तम उदहारण माना जाता है| इसे भारत के सभी धरोहर स्थल में सबसे अधिक प्रवासी देखने आते है और भारत का सबसे प्रसिद्द पर्यटक स्थल है|

The Architectural Work of Le Corbusier, an Outstanding Contribution to the Modern Movement

World Heritage Sites में शामिल वर्ष2016
वैश्विक धरोहर का प्रकारCultural

ले कोर्बुज़ियर के द्वारा कई जगह पर उत्तम स्थापत्यो की रचना की गयी है| चंडीगढ़ के कैपिटल काम्प्लेक्स भी Le Corbusier के काम का हिस्सा है| कैपिटल काम्प्लेक्स में भारत के हरियाणा और पंजाब की उच्च न्यायलय और सचिवालय स्थित है जिन्हें Le Corbusier के द्वारा 1950 में भारत के विभाजन के बाद बनाया गया था|

The Jantar Mantar, Jaipur(जंतर मंतर) – World Heritage Sites

The Jantar Mantar, Jaipur(जंतर मंतर)
World Heritage Sites में शामिल वर्ष2010
वैश्विक धरोहर का प्रकारCultural

यह आर्किटेक्चरल एस्ट्रोनॉमिकल इंस्ट्रूमेंट्स जयपुर के महाराजा जय सिंह द्वितीय के द्वारा बनाया गया था| यह अपनी तरह की सबसे बड़ी वेधशाला है|

इस वेधशाला का निर्माण 18 वीं शताब्दी में राजस्थान में किया गया था| यह 19 खगोलीय उपकरणों का संग्रह है, जिसमें दुनिया का सबसे बड़ा पत्थर सनडायल भी शामिल है। भारत की सर्वश्रेष्ठ संरक्षित वेधशालाओं में से एक, यह स्मारक वैज्ञानिक के साथ-साथ भारत की सांस्कृतिक विरासत का एक उत्कृष्ट उदाहरण है।

Victorian Gothic and Art Deco Ensembles of Mumbai(विक्टोरियन गोथिक और आर्ट डेको एनसेंबल्स ऑफ मुंबई)

World Heritage Sites में शामिल वर्ष2018
वैश्विक धरोहर का प्रकारCultural

विक्टोरियन गोथिक और आर्ट डेको एनसेंबल्स ऑफ मुंबई कुल 94 इमारतों का समूह है| जिसमे ओवल मैदान के चारों ओर स्थापित मुंबई के फोर्ट एरिया में स्थित इमारते शामिल है| राजाबाई क्लॉक टॉवर, वाटसन के होटल, डेविड ससून लाइब्रेरी और एल्फिंस्टन कॉलेज इस आर्ट डेको में शामिल है|

Western Ghats(पश्चिमी घाट) – World Heritage Sites

List of World Heritage Sites in India |  Western Ghats
World Heritage Sites में शामिल वर्ष2012
वैश्विक धरोहर का प्रकारNatural

इसमें सह्याद्रि, कुद्रेमुख, तालकवेरी, नीलगिरि, अनामलाई, पेरियार और अगस्त्यमई उप-क्लस्टर शामिल होते है| यह पुरे विश्व के विश्व के दस “हॉटेस्ट बायोडायवर्सिटी हॉटस्पॉट्स” में से एक के रूप में प्रसिद्ध है|

यह भारत के पश्चिमी तट पर स्थित है| यह 1600 किलोमीटर की लम्बाई के साथ 100 किलोमीटर की चौड़ाई में स्थित है| १६०००० वर्ग किलोमीटर क्षेत्र को कवर करती हैं। पश्चिमी घाट के किनारे के जंगल में वनस्पति और जीवों की लगभग 325 प्रजातिया निवास करती है|

List of UNESCO World Heritage Sites in India (State-wise)

State हेरिटेज साईट(वैश्विक धरोहर)
जम्मू और कश्मीरकश्मीर में मुगल गार्डन (2010)
कोल्ड डेजर्ट कल्चरल लैंडस्केप ऑफ़ इंडिया (2015)
लद्दाख का लेह-कारगिल क्षेत्र
मेघालयगारो हिल्स संरक्षण क्षेत्र (GHCA) (2018)
पश्चिम बंगालबिष्णुपुर, पश्चिम बंगाल में मंदिर (1998)
नीरा वैली नेशनल पार्क (2009)
शांतिनिकेतन (2010)
पंजाब
श्री हरिमंदिर साहिब, अमृतसर, पंजाब (2004)
दिल्लीदिल्ली – एक हेरिटेज सिटी (2012)
बहाई हाउस ऑफ उपासना, नई दिल्ली (2014)
केरल
मट्टनचेरी पैलेस, एर्नाकुलम, केरल (1998)
पद्मनाभपुरम पैलेस (2014)
मणिपुर
कीबुल लामजाओ संरक्षण क्षेत्र (2016)
उत्तर प्रदेशप्राचीन बौद्ध स्थल, सारनाथ, वाराणसी, उत्तर प्रदेश (1998)
हिमाचल प्रदेशकोल्ड डेजर्ट कल्चरल लैंडस्केप ऑफ़ इंडिया (2015)
स्पीति घाटी
गुजरातजंगली गधा अभयारण्य, कच्छ का छोटा रण (2006)
धोलावीरा: ए हड़प्पा शहर (2014)
हड़प्पा पोर्ट-टाउन, लोथल (2014) के पुरातात्विक अवशेष
कर्नाटकदक्खन सल्तनत के स्मारक और किले (2014)
गुलबर्गा में बहमनी स्मारक
बहमर और बिदर में मोरीद शाही स्मारक
बीजापुर में आदिल शाही स्मारक
श्रीरंगपटना द्वीप शहर के स्मारक (2014)
होयसला की पवित्र टुकड़ी (2014)
अरुणाचल प्रदेशनमदाफा राष्ट्रीय उद्यान (2006)
थेबंग फोर्टिफ़ाइड विलेज (2014)
ओडिशाचिलिका झील (2014)
एकाम्राक्षेत्र – द टेम्पल सिटी, भुवनेश्वर (2014)
राजस्थान Rajasthanडेजर्ट नेशनल पार्क (2009)
असमअसम में ब्रह्मपुत्र नदी के मध्य में माजुली का नदी द्वीप (2004)
मोइदाम्स – अहोम राजवंश का माउंड-ब्यूरियल सिस्टम (2014)
अंडमान और निकोबार द्वीप समूहसेलुलर जेल, अंडमान द्वीप समूह (2014)
नारकंडम द्वीप (2014)
तमिलनाडुश्री रंगनाथस्वामी मंदिर, श्रीरंगम (2014)
तेलंगानाहैदराबाद गोलकुंडा किले के कुतुब शाही स्मारक, कुतुब शाही मकबरे, चारमीनार (2010)
दक्खन सल्तनत के स्मारक और किले (2014)
हैदराबाद में कुतुब शाही स्मारक
शानदार काकतीय मंदिर और द्वार (2014)
स्वायंभु मंदिर और कीर्थी थोरनास, वारंगल किले के अवशेष
रुद्रेश्वर मंदिर, हनुमकोंडा
रुद्रेश्वर (रामप्पा) मंदिर, पालमपेट
मध्य प्रदेश
मांडू, मध्य प्रदेश में स्मारक समूह (1998)
ओरछा का ऐतिहासिक पहनावा (2019)

Question Answer About UNESCO World Heritage Sites in India

1983 में UNESCO के द्वारा तिन साईट आगरा फोर्ट, अजंता की गुफा और ताज महल को सबसे पहले घोषित किया था| ये तीनो को भारत की सबसे पहली उनेस्को द्वारा घोषित World Heritage Sites in India माना जाता है|

भारत के सभी राज्यों में से महाराष्ट्र में सबसे अधिक नंबर में Unesco World Heritage Sites है| महाराष्ट्र में कुल पांच वैश्विक धरोहर है और एक संयुक्त राष्ट्रिय धरोहर का हिस्सा है|

भारत में तिन प्रकार के वैश्विक धरोहर है जैसे की कल्चरल (Cultural), नेचुरल(Natural) और मिश्रित(Mixed)| जिसमे 30 जगह कल्चरल से सम्बंधित. 7 जगह नेचुरल और 1 मिश्रित प्रकार से सम्बंधित है|

भारत में अहमदाबाद और जयपुर दोनों सिटी वैश्विक धरोहर(World Heritage site) के रूप में प्रचलित है| जिसमे अहमदाबाद को 2017 में और जयपुर को 2019 में वैश्विक धरोहर स्थल घोषित किया गया था|

पुरे विश्व में चीन और इटली के पास सबसे अधिक World Heritage sites है| दोनों के पास 55 है|

पुरे विश्व में Paris, Banks of the Seine सबसे अधिक लोग visit करते है जब की भारत में ताज महल सबसे अधिक प्रवासी लोग आते है|

UNESCO world heritage sites in India 2019

2019 से पहले उनेस्को के द्वारा पसंद किये गए स्थल 37 थे| लेकिन 2019 में UNESCO के द्वारा जयपुर को पसंद किया गया था तब से 2019 के बाद भारत में 38 world heritage sites है|

Leave a Comment