Connect with us

Be Healthy

How to increase immunity power in Hindi

Published

on

How to increase immunity power in Hindi

क्या आप जानते है की immunity power क्या है और इसे किस तरह बढ़ाया जाता है| अगर आप नहीं जानते की immunity power को कैसे बढ़ाये तो यह लेख how to increase immunity power with small change in hindi आपकी मदद करेंगे|

आज के इस लेख के माध्यम से हम आपको immunity power की क्यों जरूरी है, इसे बढाने की लिए कोन से तरीके हम अपना सकते है, हमें कैसे पता चलता है की हमारी immunity power कम है (Low immunity power symptoms), Immunity types के सन्दर्भ में अच्छी इनफार्मेशन देंगे जिसे आपको रोगप्रतिकारक शक्ति का महत्व (importance of immunity power) समज में आये| सबसे पहले हम रोगप्रतिकारक शक्ति क्या है और उसका महत्व क्या है उसे समजते है|

रोगप्रतिकारक शक्ति और महत्व
(Immunity power and its importance)

“रोगप्रतिकारक शक्ति हमारे शरीर की एक डिफेन्स सिस्टम है जो की हमारे स्वास्थ्य पर बहार से होने वाले आक्रमण जैसे की वायरल इन्फेक्शन और अन्य प्रकार के रोग से हमें बचाने का कार्य करती है| Immunity power का मुख्य कार्य है हमारे शरीर की विविध प्रकार के रोगों से रक्षा करना|”

हम हर दिन खाना खाते समय, पानी में, चलते-फिरते , कार्य करते समय कई तरह के बैक्टीरिया से संपर्क में आते है जो शरीर को नुकशान पहुचा सकते है| इस तरह के वायरस या बैक्टीरिया जो हमारे शरीर को नुकशान पंहुचा सकता है उनसे लड़ने के लिए हमारे शरीर में इम्यून कोशिकाओं (immune Cell) और प्रोटीनों(Protein) से एक संरचना बनी होती है|

सेहत मंद रहने के अलावा Immunity power आने वाली पीढियों को भी सेहतमंद रखने में मददरूप होता है| जब भी किसी व्यक्ति का शरीर low Immunity power वाला हो तब इससे आने वाली पीढ़ी में भी गंभीर रोगों के लक्षण देखने को मिल सकते है|

रोगप्रतिकारक शक्ति कार्य कैसे करती है ?
How does immunity power work?

रोगप्रतिकारक शक्ति के कार्य को दो भागो में विभाजित(Types of immunity) किया जाता है| जिसमे एक दिन भर कार्य करता रहता है(Innate Immunity in Hindi) और पुरे दिन जो भी वायरस और बैक्टीरिया शरीर पर आक्रमण करते है उनसे हमें बचाता है| दूसरा है स्पेसिफिक कार्य कराने वाला immunity system है जिसे Adaptive Immunity system भी कहा जाता है|

Innate Immunity in Hindi: इसमे दो प्रकार की इम्यून कोशिकाओं कार्य करती है| एक नेचुरल किलर जो हर बहारी आक्रमणों से लड़ती है और ख़त्म करती है| दूसरा सेल जो की आक्रमण कारी से लड़ता भी है और उसके सन्दर्भ में और भी इनफार्मेशन को इकठ्ठा करता है| बाद में वह इनफार्मेशन को वायरस की पहचान करते है तो उस डाटा को स्पेसिफिक कार्य कराने वाला immunity system के साथ शेयर करा देते है|

Adaptive Immunity system: यहाँ पर T-Cell और B-Cell होते है जो वायरस या बैक्टीरिया में से एंटीबाडी बनाते है| बाद में जब भी फिर से किसी भी वायरस या बैक्टीरिया का आक्रमण हो तब उनसे लड़ने में तो और शरीर को तंदुरस्त रखने में सरलता रहे|

यह भी पढ़े

रोगप्रतिकारक शक्ति को कैसे बढायें
(How to increase immunity power)

सामान्य रूप से बहोत से लोगो में यह एक मिथ(गलत बात) चल रही है की immunity power को बढाने की कोई भी दवाई लेने से इसे बढाया जाता है लेकिन यह बिलकुल ही गलत बात है| कभी भी कोई भी दवाई लेने से immunity power नहीं बढाया जा सकता क्योंकि आज तक एकी कोई दवाइ बनी ही नहीं है जो आपकी रोगप्रतिकारक शक्ति को बढ़ा दे|

रोगप्रतिकारक शक्ति को बढाने के लिए सिर्फ दो चीजे मदर रूप हो सकती है एक है आहार(Food) और दूसरा है आपकी दिनचर्या(लाइफ स्टाइल)| हम बारी बारी दोनों के बारे में चर्चा करते है|

फ़ूड से रोगप्रतिकारक शक्ति बढायें
(Increase immunity with Food)

इम्युनिटी को बढाने के लिए कई तरह के खाद्य पदार्थ मदद रूप होते है| लेकिन सबसे पहले जंक फ़ूड(Junk Food) से आपको बचना चाहिए| किसी भी तरह का जंक फ़ूड आपके इम्युनिटी सिस्टम की शक्ति को कम कर सकता है|

  • खाने में हरी-पत्ती वाले शाक को खाना काफी मददरूप होता है|
  • कलरफुल फ्रूट भी खाने और रोगप्रतिकारक शक्ति को बढाने में काफी मदद रूप होता है|
  • खाने में अदरक, लौंग, लहसुन का उपयोग भी करना चाहीऐ, यह टेस्ट के साथ इम्युनिटी बढाने में काफी मदद करते है|
  • हल्दी का पाउडर एक नेचुरल इंटीग्रेड है जो को इम्युनिटी बढाने के साथ एंटी बायोटिक भी है| इसे आप खाने में उपयोग के अलावा चूर्ण के रूप में या दूध बनाकर भी ले सकते है|
  • शहद भी एक अच्छा इम्युनिटी बूस्टर है, इसे भी डेली लेने से इम्युनिटी अच्छे से बूस्ट होती है| शहद के साथ सुकी हुई अदरक के पाउडर को प्रयोग में लेने से भी अच्छा लाभ मिलता है|
  • विटामिन C वाले खाद्य पदार्थ भी इम्युनिटी बढाने में मदरूप होते है|
  • फाइबर युक्त आहार और खाने में दही का सेवन भी खाने को पचाने में मदद रूप होता है| खाना अच्छे पचने से जरूरी तत्वों शरीर को मिलते है|
  • ग्रीन-टी में भी अच्छे एंटी-ओक्सिडेंट होते है इसे भी प्रयोग में लेने से इम्युनिटी को मजबूत किया जा सकता है|

यह भी पढ़े

लाइफ स्टाइल से रोगप्रतिकारक शक्ति बढायें

WALKING AND EXERCISE: सेहत अच्छी रखने और रोगों के लड़ने के लिए दिन में 30 मिनिट तक का अच्छा वर्कआउट होना काफी लाभदायक है|

PROPER SLEEP: शरीर को सही आराम करने की आवश्यकता है| शरीर को सही आराम अच्छे से नींद लेने से मिलता है| अच्छे से नींद लेने से सभी बॉडीपार्ट को आराम मिलता है और फिरसे कार्य करने की शक्ति मिलती है|

EATING HABIT: सही समय पर खाना| हमारा शरीर एक बायोक्लॉक पर सेट हुआ है| शरीर में खाने को पचाने और जंतु रहित करने के लिए ACID उत्पन्न होता है जो की EATING HABIT पर आधारित होता है| खाना खाने में अनियमितता इसमे अवरोध उत्पन्न करती है और खाना सही तरीके से पच नहीं सकता| ACIDITY, गैस, जैसे कई रोगों के पीछे यही जवाबदार है|

MAKE YOGA/MEDITATION PART OF LIFE: इससे तनाव से मुक्ति मिलती है| आज कई तरह के रोग जैसे की डायबिटीज, ब्लड प्रेशर का कारण तनावपूर्ण जीवनशैली है| योग और ध्यान इससे मुक्ति दिलाता है|

रोगप्रतिकारक शक्ति के कम होने के लक्षण
(Low immunity power symptoms)

रोग प्रतिकारक शक्ति कम होना काफी नुकशान दायक है| अगर आप जानना चाहते है की रोगप्रतिकारक शक्ति कम है या अच्छी तो आप निचे दिए लक्षण पर ध्यान दे|

  • वायरल इन्फेक्शन(शर्दी-बुखार) जल्दी से शरीर को लग जाना|
  • तनाव और शरीर में कमजोरी महसूस होना|
  • घावों का जल्दी से न भरना और बार बार संक्रमण होना|

यह भी पढ़े

FAQ (आपके मन के प्रश्नों)

Q-1. इम्युनिटी दवाई से बढाई जा सकती है?
ANS : नहीं इम्युनिटी को कभी भी दवाई से बढाई नहीं जा सकती| इस पर सबसे अधिक असर खाद्य पदार्थ और लाइफ स्टाइल का होता है|

Q-2. नशीले पदार्थ से इम्युनिटी पर असर होता है?
ANS: नशीले पदार्थ का सेवन कराने से रोगप्रतिकारक शक्ति पर असर होता है और वक् कम होती है| इससे भविष्य में गंभीर रोगों को सामना करना पड सकता है|

Q-3. आयुर्वेद से इम्युनिटी बढाई जा सकती है?
ANS
: आयुर्वेद काफी सरल उत्तम तरीके से रोगप्रतिकारक शक्ति को बढाने में मदद करता है| कई सिरप भी इसमे मदद करते है|

Q-4. अत्यधिक वजन का कोई प्रभाव पड़ता है|
ANS:
अत्यधिक वजन के साथ जीवन में निष्क्रियता और बैठा जीवन इस पर काफी प्रभाव दिखाता है| हर दिन कमसे कम 30 मिनिट तक कसरत करनी चाहिए और वजन पर भी नियंत्रण के लिए अच्छा डाइट प्लान लेना चाहिए|

Q-5. घरेलु नुस्खे कितने असरकारक होते है|
ANS:
इम्युनिटी बढ़ाना कोई एक दिन का खेल नहीं है| इम्युनिटी को बढाने में महीनो से लेकर साल भी लगता है| इस लम्बी चलने वाली प्रक्रिया में घरेलू नुस्खे काफी दायक होते है|

हमें आशा है की आपको How to increase immunity power पर अच्छी इनफार्मेशन मिली होगी| हमारे द्वारा दी गयी यह इनफार्मेशन आपको पसंद आयी हो तो इसे अन्य लोगो के साथ शेयर अवश्य करे ताकि और लोगो तक भी यह How to increase immunity power, Types of immunity power, symptoms of low immunity के बारे में इनफार्मेशन मिल सके|

Advertisement
4 Comments

4 Comments

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *

    Facebook

    Advertisement

    Trending