what is E-Commerce history in India [Hindi]

क्या आप जानते है की E-Commerce क्या है (What is E-Commerce ) और E-Commerce भारत में कब शुरू हुआ (E-Commerce history in india ) था| अगर आप यह नहीं जानते तो आपके लिया यह आर्टिकल काफी उपयोगी होगा|

इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपके साथ What is E-Commerce और E-Commerce history in india के सन्दर्भ में अच्छी इनफार्मेशन को शेयर करेंगे| आज भारत जैसे देश में हजारो लोग ऑनलाइन सामान को खरीदते या बेचते है| सामन को ऑनलाइन खरीदना और बेचना ही E-Commerce कहलाता है| सबसे पहले हम आपको E-Commerce history in india की इनफार्मेशन देते है ताकि आपको समज आये की यह इतना सक्सेसफुल कैसे हुआ|

E-Commerce का भारत में इतिहास
(E-Commerce history in india)

E-Commerce इंडस्ट्री का इतिहास भारत में शुरू 2007 से हुआ था जब भारत में फ्लिप्कार्ट (FLIPKART) को लौंच किया गया था|

1995 में इन्टरनेट का जन्म हुआ था| भारत में इन्टरनेट की सुविधा को 2002 आंशिक रूप से शुरू की गयी थी| बाद में सबसे पहले IRCTC के द्वारा ट्रेन की ऑनलाइन बुकिंग शुरू की गयी थी|

भारत में शुरू में ऑनलाइन की सुविधाओं में अधिकतर ट्रावेल के सम्बन्धी सुविधा प्राप्त होती थी| IRCTC के बाद YATRA.COM और MAKEMYTRIP ने ऑनलाइन सुविधा प्रदान की और अपने पोर्टल को शुरू किया|

2006 तक कही पर भी भारत में ऑनलाइन प्रोडक्ट को बेचा या खरीदा नहीं जाता था| 2006 के बाद भारत में E-Commerce इंडस्ट्री की शुरुआत हुई थी| फ्लिपकार्ट (FLIPKART) के द्वारा ऑनलाइन बुक(Book) को बेचा जाने लगा था| और ऐसे भारत में ऑनलाइन E-Commerce की शुरूआत हुई थी|

धीरे-धीरे नए नए स्मार्टफ़ोन बाजार में आते गए और स्मार्ट फ़ोन के यूजर बढ़ते गए| सबसे पहले एप्पल के द्वारा I-PHONE को लौंच किया गया और बाद में सैमसंग,HTC जैसी कंपनी ने अपने स्मार्टफोन को लांच लिए जिसे इन्टरनेट की सुविधा लोगो तक आसानी से पहुँच गयी|

भारत में ई-कॉमर्स इतिहास में प्रतिरोध कारक क्या है
What is Resistance factor in E-Commerce history in india

भारत में E-Commerce में flipkart के बाद snapdeal और अमेज़न जैसी कई कंपनी आयी| शुरू में ट्रावेल में लोगो को ऑनलाइन प्रक्रिया करना और टिकेट बुकिंग करने में विश्वास बढ़ गया था क्योंकि वहा पर टिकेट बुकिंग करते ही सामन के रूप में टिकेट मिल जाती थी|

भारत के E-Commerce के इतिहास में सबसे बड़ा प्रतिरोधी कोई कारक था और है तो वह सिर्फ विश्वास ही है| पहले के लोग E-Commerce पर कम विश्वास करते थे| आज के समय में यह काफी कम दिखने को मिलता है| E-Commerce सेक्टर के द्वारा भारत के लोगो के ट्रस्ट इशू को दूर करने हेतु ही Cash on delivery को शुरू किया गया था|

E-Commerce history timeline in india

YearE-Commerce Timeline
1995 इन्टरनेट का जन्म हुआ
2002
भारत में IRCTC ने अच्छे से कार्य करना शुरू कर दिया था
2005/2006
MAKE MY TRIP और YATRA ने ऑनलाइन बुकिंग शुरू की
2007
Flipkart LAUNCH, MYNTRA LAUNCH
2010
SNAPDEAL की शुरुआत हुई
2010LENSEKART LAUNCH हुआ
2012-2013
JABONG.COM की शुरुआत हुई जिसने फैशन और लाइफस्टाइल की शुरुआत की और उस समय की सबसे बड़ी कंपनी बनी
2013 AMAZON की भारत में शुरुआत हुई


बाद में कई तरह की E-COMMERCE कंपनी भारत में आई| 2020 में भारत में E-COMMERCE के द्वारा US$ 120 billion का व्यापार होने की संभावना है|

हमें आशा है की आपको हमारी और से दिया गया यह लेख E-Commerce history in india पसंद आया होगा| अगर इस यह इनफार्मेशन से संतुष्ट है तो इसे अधिक से अधिक लोगो तक शेयर करे|

2 thoughts on “what is E-Commerce history in India [Hindi]”

Leave a Comment